अगर आपको भी वेजाइना के लूज होने के कारण यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्‍या हो रही है तो इन 3 एक्‍सरसाइज को रोजाना करें। 

बढ़ती उम्र के साथ वेजाइना अपनी लोच खोना शुरू कर देती है। हालांकि कुछ लोगों को मनाना है कि ऐसा बहुत ज्‍यादा सेक्‍शुअल रिलेशनशीप के कारण होता है लेकिन यह बिल्‍कुल भी सही नही हैं। कुछ अन्य कारक हैं जो इसकी टाइटनेस को प्रभावित कर सकते हैं। डिलीवरी वेजाइना में स्‍ट्रेच के सबसे आम कारणों में से एक है। साथ ही मेनोपॉज और इसके परिणामस्वरूप हार्मोन के लेवल में गिरावट भी आपकी वेजाइना को पहले की तुलना में ढीला बना सकता है। वेजाइना में ढीलेपन के चलते महिलाओं में यूरिनरी इनकंटीनेंस की समस्‍या हो सकती है। 

अगर आप भी वेजाइना को टाइट करना चाहती हैं तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि आज हम आपको कुछ ऐसी एक्‍सरसाइज के बारे में बता रहे हैं जो वेजाइना को टाइट करने में आपकी मदद कर सकती हैं। इन एक्‍सरसाइज के बारे में हमें फिटनेस एक्‍सपर्ट नेहा अग्रवाल बता रही हैं।

नेहा अग्रवाल जी का कहना है कि ”वेजाइना को टाइट बनाने के लिए कीगल एक्‍सरसाइज काफी मददगार होती है। इसके अलावा सिंपल स्‍कावट्स भी आपके लिए मददगार हो सकती हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि बॉडी के हर अंग में मसल्‍स होती हैं। जब हम एक्‍सरसाइज करते हैं तो उसे अंग का फैट कम होता है और उसमें टाइटनेस आती है।” 

कीगल एक्‍सरसाइज

Urinary Incontinence | Health Plus

कीगल एक्‍सरसाइज की सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे कहीं भी कर सकती हैं और किसी को पता भी नहीं चलेगा। अपने कीगल्स करने पर ध्यान केंद्रित करने से आपको एक उबाऊ सहयोगी के साथ बातचीत करने में मदद मिल सकती है। कीगल एक्‍सरसाइज आपकी पेल्विक फ्लोर की मसल्‍स पर काम करके समस्या की जड़ तक जाती हैं। जब आप अगली बार यूरिन कर रही हों, तो खुद को बीच-बीच में रोक दें और उन मसल्‍स पर विशेष ध्यान दें, जिनका आप इसके लिए उपयोग कर रही हैं। जब आप अपने कीगल्स कर रही हों तो यह ठीक वही गति है जिसकी आपको नकल करने की आवश्यकता है। 5 सेकंड के लिए अपनी पेल्विक मसल्‍स को सिकोड़ें और फिर छोड़ दें। इसे 15 बार दोहराएं और फिर आराम करें। आप इनमें से जितने चाहें उतने सेट एक दिन में कर सकती हैं। इसे आप बैठकर या लेटकर आसानी से कर सकती हैं।

स्क्वाट्स

HOW TO SQUAT - Exercise For Women Over 50

अगर आप पहले से ही बहुत अधिक एक्‍सरसाइज करती हैं तो आप जानती हैं कि स्क्वाट कितनी असरदार एक्‍सरसाइज हैं। इसमें आपके अधिकांश प्रमुख मसल्‍स ग्रुप शामिल होते हैं जो आपकी पेल्विक मसल्‍स के लिए विशेष रूप से प्रभावी होते हैं। सही तरीके से स्क्वाट करने के लिए, अपने पैरों को अपने हिप्‍स की चौड़ाई में खोलकर खड़ी हो जाएं और उन्हें अपने शरीर से 30 डिग्री के कोण पर थोड़ा मोड़ें। अपनी रीढ़ को सीधा रखते हुए धीरे-धीरे ऐसे बैठें जैसे आपके नीचे किसी कुर्सी पर बैठी हैं।

जब आप सीधा ऊपर की ओर जाती हैं तो अपनी एड़ी से ऊपर की ओर धक्का देना याद रखें। जब सही तरीके से किया जाता है, तो स्क्वाट वास्तव में आपके घुटनों और पीठ को मजबूत कर सकता है, जिससे उन्हें चोट लगने से बचाया जा सकता है। स्क्वाट भी उन कुछ एक्‍सरसाइज में से एक है जिससे आपके पूरे शरीर की एक्‍सरसाइज हो जाती हैं। वेजाइना में टाइटनेस आने के साथ, आपके हिप्‍स और पेट भी टाइट हो जाता है। 

चाइल्‍ड पोज

चाइल्‍ड पोज एक्‍सरसाइज आपकी वेजाइना को टाइट करने में मदद करती है। योग आपके पूरे शरीर के लिए बहुत अच्छा है, यदि आप नियमित रूप से इसका अभ्यास करती हैं तो अन्‍य फायदों के साथ-साथ टाइट वेजाइना भी पा सकती हैं। चाइल्ड पोज़ विशेष रूप से आपकी पेल्विक की मसल्‍स को टाइट करने का काम करता है। चाइल्‍ड पोज एक बहुत ही आसान योग है जिसे कोई भी बहुत अधिक अभ्यास के बिना भी कर सकता है। 

चाइल्‍ड पोज करने के लिए मैट पर घुटनों को मोड़कर बैठ जाएं। फिर मैट की चौड़ाई जितना घुटनों को फैलाएं, पैर के ऊपरी भाग को फ्लोर पर रखें और अंगूठे से छूएं। अपनी नाभि को अपनी थाइस के बीच लाएं और सिर को फ्लोर पर। अपने हाथ ऐसे फैलाएं कि हथेली फ्लोर की ओर रहे। योग के परिणाम दिखने में थोड़ा समय लगता है, इसलिए हिम्मत न हारें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.