क्या है ‘सरकेडियन रिदम’ जो करती है आपके स्वास्थ्य को प्रभावित

सरकेडियन रिदम आपकी नींद और जागने के चक्र के साथ गहराई से जुड़ा हुई है। आपका पूरा दिन कैसे बीतेगा इसका दारोमदार इसी के ऊपर है।

क्या आपने कभी महसूस किया है कि आपके काम की डेडलाइन जो आपको रात भर जगा रही है, वो आपकी बॉडी क्लॉक को किस कदर प्रभावित कर रही है? कई लोगों में तो अपनी स्लीप साइकल बिगड़ने का भी डर होता है, क्योंकि एक बार इसमें हुई गड़बड़ी कब ठीक हो यह बता पाना तो मुश्किल है। आखिरकार,नींद हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी भी तो है, क्योंकि यह हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को आराम देती है।

समझिए कि आपका शरीर एक मशीन है। जैसे किसी मशीन को पूरी तरह से प्रोडक्टिव होने के लिए कुछ समय के लिए बंद करने की आवश्यकता होती है, वैसे ही आपके शरीर को भी ठीक से काम करने के लिए आराम करने की आवश्यकता होती है। आपने देखा होगा कि पर्याप्त नींद न लेने से आप चिड़चिड़े हो जाती हैं, काम में ध्यान कम लगने लगता है और भूख पर भी असर पड़ता है। 

क्या है सरकेडियन रिदम?

trendymumma.com

‘सरकेडियन’ एक लैटिन फ्रेज ‘सरका डायम’, जिसका मतलब ‘पूरे दिनभर में’ होता है, से आया है। ‘सरकेडियन रिदम’ आपकी 24 घंटे चलने वाली बॉडी क्लॉक, जो पर्यावरण और लाइट के बदलने पर आपकी नींद और उठने के समय का ध्यान रखती है। एक प्रोपर सरकेडियन रिदम से आपके मस्तिष्क को पूरे दिन सतर्क रहने में मदद मिलती है, जिसके कारण आप दिनभर चुस्ती और फुर्ती से काम कर पाती हैं। जबकि रात में, आपका मस्तिष्क स्वाभाविक रूप से नींद महसूस करना शुरू कर देता है, जिससे आपको संकेत मिलता है कि अब आपके आराम करने का समय हो गया है।

इसकी गड़बड़ी आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती है

अब तक आपको यह तो पता चल ही गया होगा कि आपका शरीर ठीक से काम करे इसके लिए नींद कितनी जरूरी है। जब सरकेडियन रिदम में गड़बड़ी होती है, तो आप ठीक से आराम नहीं कर पाते। एक डिस्टर्ब्ड स्लीपिंग साइकल कई परेशानियों को जन्म दे सकती है। आपके स्वास्थ्य पर यह किस तरह असर डालती है, आइए देखें इसके नमूने-

मेंटल हेल्थ पर असर

जब आपकी सरकेडियन रिदम में गड़बड़ी होती है, और आप अच्छी तरह आराम नहीं कर पातीं तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य, खासकर आपके मूड पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। एक रिसर्च के अनुसार, आपकी सरकेडियन रिदम का मूड मैनेजमेंट पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसके बाधित होने से आप चिड़चिड़ापन और निराशा जैसे नकारात्मक मूड का अनुभव कर सकती हैं।

मेटाबॉलिक हेल्थ पर असर

एक मजबूत और स्वस्थ मेटाबॉलिज्म आपके वजन को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक है। इसके अलावा यह आपके ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी नियंत्रित रखता है। एक अन्य रिसर्च के अनुसार, अगर आपकी सरकेडियन रिदम गड़बड़ होती है, तो इसका असर आपके मेटाबॉलिज्म पर भी पड़ सकता है। आप जानती हैं कि खराब मेटाबॉलिज्म की वजह से आपके शरीर में कई बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं।

स्लीप रेगुलेशन

अब तक आपको अच्छी तरह पता चल ही गया कि नींद और सरकेडियन रिदम का आपसी संबंध है। रिदम में गड़बड़ी होने से आपकी नींद भी डिस्टर्ब होती है। अगर लंबे समय तक नींद  न आए, तो इस परेशानी को इंसोम्निया कहा जाता है। ऐसे में कई तरह के मानसिक और शारीरिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा एक डिसऑर्डर है स्लीप एप्निया, जिसमें लोगों को सोते समय सांस लेने में परेशानी होती है। उनकी सांस बार-बार बंद होने लगती है जिसके कारण उनकी नींद खराब होती है और शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन भी नहीं मिल पाती है।

यह भी पढ़ें : रात में अच्छी नींद पाना चाहती हैं तो अपनाएं ये टिप्स

ऐसे ही और टिप्स / हैक्स पाने के लिए जुड़ें रहें। कृपया हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें ताकि आप तक सभी पोस्ट समय से पहुचें। यदि आपको हमारे आर्टिकल अच्छे लगते हैं, तो इन्हें शेयर जरूर किया करें। आपका स्नेह हमारे जोश को बढ़ाता है और हमें और नयी और उपयोगी जानकारी आपतक पहुंचाने के लिए प्रोत्साहित करता है

हम आपको हमारे फेसबुक समुदाय से जुड़ने के लिए आमंत्रित करते हैं, कृपया ग्रुप से जुड़कर हमारी शान बढ़ाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page